Big news App
विश्व

South Africa : पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा के समर्थकों का हिंसक प्रदर्शन, 10 लोगों की मौत

नई दिल्ली – दक्षिण अफ्रीका में पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा के समर्थकों ने जबरदस्त हिंसा की है। जैकब जुमा को अदालत की अवमानना के आरोप में जेल भेजा गया है। ये दंगाई इसी बात को लेकर विरोध कर रहे हैं। स्थिति को हाथ से निकलता देख सरकार ने सेना को तैनात कर दिया है। दक्षिण अफ्रीकी सेना ने जोहान्सबर्ग शहर सहित दो प्रांतों में बड़ी संख्या में सैनिकों की तैनाती की है।

अभी तक इस हिंसा में 10 लोगों की मौत हो चुकी है। ये हिंसक प्रदर्शन ऐसे वक्त में हो रहे हैं, जब सुप्रीम कोर्ट ने जुमा की 15 महीने की जेल की सजा को चुनौती देने वाली एक याचिका पर सुनवाई शुरू कर दी है। पुलिस ने कहा कि हिंसा में अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है और 200 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है। हर जगह हिंसा के माहौल को देखते हुए दंगों को रोकने के लिए गौतेंग और क्वाजुलु-नटाल प्रांतों में सेना को तैनात किया गया है। बता दें कि क्वाजुलु-नटाल जुमा का गृह राज्य है। जुमा 2009 से 2018 तक दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति थे। जुमा को वर्तमान में अदालत की अवमानना के मामले में जेल भेजा गया है।

दरअसल, उनके कार्यकाल में उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे, जिसकी जांच के सिलसिले में उन्हें कोर्ट के समक्ष पेश होना था, लेकिन वह ऐसा करने में विफल रहे। इसलिए ही उन्हें सजा सुनाई गई। जैकब जुमा को 15 महीने जेल की सजा सुनाई गई है, जिसके बाद उन्होंने बुधवार को खुद को अधिकारियों को सौंप दिया। हालांकि, 79 वर्षीय नेता ने भ्रष्टाचार के आरोपों से इनकार किया है। जुमा की गिरफ्तारी के बाद, उनके समर्थकों ने पूरे देश में हिंसक विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने टायर जलाकर और बैरिकेडिंग लगाकर सड़कों को अवरुद्ध कर दिया।

दंगाइयों की हिंसक भीड़ ने वाहनों में आग लगा दी और दुकानों को लूट लिया. ‘साउथ अफ्रीका नेशनल डिफेंस फोर्स’ ने एक बयान में कहा कि कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने उनसे मदद मांगी, जिसके बाद सैनिकों की तैनाती की गई है।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button