Big news App
भारतराजनीति

PM मोदी के साथ J&K के नेताओं की बैठक खत्म, पीएम मोदी बोले- कश्मीर में होंगे चुनाव

श्रीनगर – जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 के खात्मे के बाद आज पहली बार केन्द्र और जम्मू कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों के नेताओं के बीच बातचीत हो रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर हो रही इस बातचीत में जम्मू कश्मीर के चार पूर्व मुख्यमंत्रियों समेत 14 नेता शामिल हो रहे हैं। ये बैठक आज दोपहर बाद 3 बजे पीएम आवास पर शुरू हुई। थी

PM मोदी के साथ जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ 7, लोक कल्याण मार्ग स्थित प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास पर चल रही बैठक खत्म हो गई है। करीब साढ़े 3 घंटे मीटिंग चली। इस बैठक में आठ दलों के 14 नेता आमंत्रित हैं। इन नेताओं में नेशनल कॉन्फ्रेंस के संरक्षक फारूख अब्दुल्ला, उनके पुत्र व पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती और पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद प्रमुख हैं।

बता दें कि दो साल पहले 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 खत्म करके राज्य को दो यूनियन टेरिटरी में बांट दिया गया था जिसके बाद से केन्द्र और सूबे की राजनीतिक पार्टियों के नेताओं के बीच ये पहली बातचीत है। पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के नेताओं संग बैठक में कहा कि डि-लिमिटेनशन के बाद कश्मीर में चुनाव कराएंगे। कश्मीर में हर वर्ग की सुरक्षा के लिए माहौल बनाना होगा। बैठक को पीएम मोदी ने करीब 10 मिनट तक संबोधित किया। पीएम मोदी की सर्वदलीय बैठक में अनुच्छेद 370 का मुद्दा उठा।

सूत्रों के हवाले से बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि डी-लिमिटेशन के बाद जम्मू-कश्मीर में चुनाव पर सभी ने सहमति जताई। पीएम मोदी ने कहा कि दिल्ली की दूरी और दूल की दूरी मिटाना चाहते हैं। कश्मीर के बेहतर भविष्य के लिए खुलकर बातचीत हुई। कश्मीर में लोकतांत्रिक प्रक्रिया मजबूत करने पर चर्चा। कश्मीर के हर वर्ग की सुरक्षा के लिए माहौल बनाना होगा। हम सभी को जम्मू-कश्मीर के युवाओं को सुरक्षित रखना होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सर्वदलीय बैठक के बाद जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी के प्रमुख अल्ताफ बुखारी ने कहाकि कश्मीर को लेकर कन्फ्यूजन दूर हुआ। जम्मू-कश्मीर के लिए आज बहुत बड़ा दिन। पीएम ने हमारी बात गौर से सुनी। कश्मीर में डी-लिमिटेशन के बाद चुनाव होगा।

पीएम मोदी की सर्वदलीय बैठक के बाद जम्मू-कश्मीर के पूर्व डिप्टी सीएम निर्मल सिंह ने कहा कि सभी दलों ने खुलकर अपनी बात रखी। पीएम ने सभी दलों की बात सुनी। पीएम ने देश की अखंडता, लोकतंत्र के लिए काम करने की अपील की। पीएम मोदी संग सर्वदलीय बैठक के बाद उमर अब्दुला ने कहा कि प्रधानमंत्री से अच्छे माहौल में बात हुई। 370 का फैसला हमें कबूल नहीं है। डीलिमिटेशन की प्रक्रिया संदेहपूर्ण है। जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश ना रहे। जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा दिया जाए। 370 हटाए जाने की लड़ाई कोर्ट में लड़ेंगे। कानून, संविधान के दायरे में रहकर विरोध करेंगे। एक मुलाकात में दिल की दूरी खत्म करना मुमकिन नहीं। जम्मू-कश्मीर को बाकी राज्यों की तरह बनाया जाए। पीएम चाहते हैं कि जम्मू-कश्मीर में जल्द चुनाव हो। केंद्र और जम्मू-कश्मीर के बीच विश्वास टूटा।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button