Big news App
विज्ञान

आज लगेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, आसमान में दिखेगा ‘रिंग ऑफ फायर’

नई दिल्ली – साल 2021 का पहला सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse June 2021) गुरुवार को लगने वाला है। विज्ञान के अनुसार चंद्रमा के पृथ्‍वी व सूर्य के बीच से गुजरने के दौरान सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) लगता है। सूर्य व पृथ्वी के बीच चंद्रमा के आ जाने के कारण कुछ समय के लिए चंद्रमा के पीछे सूर्य का बिम्ब ढ़कता है। इस खगोलीय घटना को ही सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) कहते हैं।

ये भारत के अरुणाचल प्रदेश और लद्दाख में ही आंशिक दिखाई देगा। भारतीय समयानुसार ये दोपहर 1.42 बजे शुरू होगा और शाम 6.41 बजे खत्म हो जाएगा। वलयाकार सूर्य ग्रहण (रिंग ऑफ फायर) की घटना यूं तो वर्ष में एक से अधिक बार होती है, लेकिन हर बार की तरह ही ये वैज्ञानिकों और खगोलीय घटनाओं में दिलचस्पी रखने वालों के लिए किसी अद्भुत नजारे से कम नहीं होती हैं।

जब चंद्रमा के पीछे से धीरे-धीरे सूर्य की रोशनी बाहर आती है तो एक समय इसकी चमक किसी हीरे की अंगूठी की तरह प्रतीत होती है, जिसको रिंग ऑफ फायर भी कहा जाता है। सूर्य ग्रहण लगने के 12 घंटे पहले उसका सूतक काल लग जाता है। ग्रहण के दौरान नकारात्मक ऊर्जा पैदा होती है। इस दौरान राहु व केतु कमजोर भी पड़ जाते हैं। इसलिए सूतक काल में शुभ कार्यों को करने की मनाही रहती है। मंदिर बंद रहते हैं। ग्रहण के दौरान भोजन नहीं करने की की मान्‍यता है। धार्मिक मान्‍याता के अनुसार लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलना चाहिए। बच्‍चों व गर्भवती महिलाओं को खास सावधानी बरतनी चाहिए।

भारत के अलावा इस घटना को उत्तरी अमेरिका, उत्तरी कनाडा, यूरोप और एशिया, ग्रीनलैंड, रूस के बड़े हिस्से में भी देखा जा सकेगा। हालांकि कनाडा, ग्रीनलैंड तथा रूस में वलयाकार, जबकि उत्तर अमेरिका के अधिकांश हिस्सों, यूरोप और उत्तर एशिया में आंशिक सूर्य ग्रहण ही दिखाई देगा।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button