Big news App
खेल

WTC : ICC ने जारी किए WTC फाइनल के नियम, जानें मैच ड्रॉ या टाई होने पर क्या होगा?

नई दिल्ली – भारत और न्यूजीलैंड के बीच अगले महीने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप खेला जाना है। यह एक फाइनल मुकाबला होगा जिसमें विजेता को टेस्ट क्रिकेट की चैंपियनशिप सौंप दी जाएगी। विराट कोहली अगर इसको जीत पाते हैं तो यह उनका पहला आईसीसी खिताब भी बन जाएगा। इस बीच आईसीसी ने शुक्रवार अगले महीने साउथेम्प्टन में हैम्पशायर बाउल स्टेडियम में भारत और न्यूजीलैंड की विशेषता वाले आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल से जुड़े नियमों की घोषणा की।

बता दें कि भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच 18 जून से साउथैम्‍प्‍टन में विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप फाइनल खेला जाएगा। 23 जून को रिजर्व डे रखा गया है। यह दोनों ही फैसले 2018 में विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप शुरू होने से पहले लिए गए थे। रिजर्व डे इसलिए रखा गया है ताकि पूरे पांच दिल का खेल हो सके। इसका उपयोग ऐसे होगा कि बारिश के कारण या खराब रोशनी के कारण मुकाबला पूरा नहीं हो सका, और बचे हुए समय की भरपाई पांच दिनों में नहीं हो सकी तो फिर रिजर्व डे उपयोग में लाया जाएगा।

अगर पांच दिन के खेल में नतीजा निकलता है या फिर मैच ड्रॉ या टाई हुआ तो दोनों टीमों को संयुक्‍त विजेता घोषित किया जाएगा। मैच के दौरान जो समय बर्बाद होगा तो आईसीसी मैच रेफरी नियमित रूप से दोनों टीमों और मीडिया को अपडेट देगा कि रिजर्व डे का उपयोग होगा या नहीं। रिजर्व डे उपयोग की जरूरत पड़ेगी, इसका आखिरी फैसला पांचवें दिन के अंतिम समय में लिया जाएगा।

आईसीसी ने किए ये तीन बदलाव –
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेल के नियमों में तीन बदलाव भी डब्ल्यूटीसी फाइनल का हिस्सा होंगे। इन्हें बांग्लादेश और श्रीलंका के बीच मौजूदा विश्व कप सुपर लीग सीरीज के दौरान लागू किया गया था। इनमें शॉर्ट रन, खिलाड़ियों की समीक्षा और डीआरएस समीक्षा से जुड़े नियम शामिल हैं।

– शॉर्ट रन के मामले में तीसरा अंपायर मैदानी अंपायर के शॉर्ट रन के किसी भी फैसले की स्वत: ही समीक्षा करेगा और अगली गेंद डाले जाने से पहले अपना फैसला मैदानी अंपायर को बताएगा।

– एलबीडब्ल्यू के लिए निर्णय समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) लेने से पहले क्षेत्ररक्षण करने वाली टीम का कप्तान या आउट दिया गया बल्लेबाज अंपायर से यह पुष्टि कर पाएगा कि क्या गेंद को खेलने का वास्तविक प्रयास किया गया था। एलबीडब्ल्यू के लिए ही डीआरएस लेने के लिए विकेट क्षेत्र का दायरा बढ़ाकर स्टंप के शीर्ष तक कर दिया गया है।

– फील्डिंग टीम के कप्तान या आउट हुए बल्लेबाज अंपायर से पुष्टि कर सकते हैं कि क्या एलबीडब्ल्यू के लिए खिलाड़ी के रीव्यू शुरू करने का फैसले लेने से पहले गेंद को खेलने का वास्तविक प्रयास किया गया है या नहीं।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button