Big news App
भारत

कोरोना के दौरान हवाई यात्रा के लिए बनाये गए नए नियम, जान लें कौन से राज्य में क्या है नियम

नई दिल्ली – भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर काफी विकराल होता दिख रहा है। बुधवार को एक दिन में कोरोना वायरस के मामलों ने सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए और सबसे अधिक 1.25 लाख का आंकड़ा पार कर लिया। महामारी की शुरुआत से ही अब तक ऐसा पहली बार है, जब एक दिन में 1 लाख 26 हजार से अधिक नए केस सामने आए हैं।

राज्य सरकारों ने कई जगहों पर नाइट कर्फ्यू, पूर्ण लॉकडाउन का केवल वीकएंड लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। बाहरी और नागरिकों के लिए नए कोविड नियम जारी कर दिए गए हैं। कोरोना के दौरान हवाई यात्रा के लिए नए नियम बनाये गए है।

दिल्ली – बढ़ते मामलों वाले राज्य से आने वाले यात्रियों का रेंडम सैंपल कलेक्शन होगा। आरोग्य सेतु ऐप जरूरी होगा। साथ ही आप सैंपल कलेक्शन के बाद तुरंत एयरपोर्ट से निकल सकते हैं। हालांकि, आपको अनिवार्य रूप से 7 दिनों के होम क्वारंटीन में जाना होगा। ऐसे में अगर आपका टेस्ट पॉजिटिव आता है, तो आप होम क्वारंटीन जारी रख सकते हैं या अस्पताल में भर्ती हो सकते हैं।

चंडीगढ़ – यहां सफर करने से पहले आप COVA पंजाब ऐप पर खुद को रजिस्टर कर लें। साथ ही आपको आरोग्य सेतु ऐप भी रखना होगा। यात्रियों को आने पर थर्मल स्क्रीनिंग से गुजरना होगा और हेल्थ डिक्लेरेशन फॉर्म भरना होगा।

असम – कोविड-19 स्वाब टेस्ट के बाद अनिवार्य रूप से थर्मल स्क्रीनिंग करानी होगी। अगर आप यहां पॉजिटिव आते हैं, तो आपको कोविड मॉनिटिरिंग फैसिलिटी में भेज दिया जाएगा। यहां अगर एंटीजन टेस्ट नेगेटिव आता है, तो पुष्टि के लिए एक RT-PCR टेस्ट भी कराया जाएगा।

आंध्र प्रदेश – यहां आने वाले सभी यात्रियों को थर्मल स्क्रीनिंग करानी होगी। साथ ही उन्हें स्पंदाना वेबसाइट (http://www.spandana.ap.gov.in) पर रजिस्टर कराना होग। साथ ही फोन में आरोग्य सेतु ऐप रखना अनिवार्य है।

गुजरात – नेगेटिव RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट साथ रखना जरूरी है। यह रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। यह समय सैंपल कलेक्शन से ही गिना जाएगा। हालांकि, यह नियम 12 साल से कम उम्र के बच्चों पर लागू नहीं होता है। आपके पास रिपोर्ट होना जरुरी है। सूरत जा रहे यात्रियों को SMC कोविड-19 ट्रैकर ऐप डाउनलोड करना होगा और एक ऑनलाइन ‘नोवल कोरोना सेल्फ रिपोर्टिंग फॉर्म’ भरना होगा।

जम्मू-कश्मीर – यहां पहुंचने वाले यात्रियों के लिए RT-PCR टेस्ट जरूरी है। अगर व्यक्ति कोविड-19 पॉजिटिव आता है, तो उसे 14 दिन के लिए होम क्वारंटीन में जाना होगा।

कर्नाटक – अगर आप पंजाब, चंडीगढ़, केरल और महाराष्ट्र से यहां पहुंच रहे हैं, तो आपको नेगेटिव RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट साथ रखनी होगी। यह रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए।

केरल – राज्य सरकार की वेबसाइट (https://covid19jagratha.kerala.nic.in) पर रजिस्टर कर एक ई-पास तैयार करना होगा। यहां पहुंचने के बाद आपको 14 दिनों के होम क्वारंटीन में जाना होगा। लक्षण वाले यात्रियों को कोविड टेस्ट कराना होगा। हालांकि, अगर आप कारोबार, कोर्ट केस या मेडिकल के सिलसिले में यहां पहुंच रहे हैं, तो आपको आधिकारिक पोर्टल पर रजिस्टर कर ई-पास प्राप्त करना होगा। यह पास 7 दिनों तक वैध रहेगा।

लद्दाख – RT-PCR रिपोर्ट साथ रखनी होगी, जो 96 घंटों से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। अगर आपके पास रिपोर्ट नहीं है, तो सात दिन के अनिवार्य होम क्वारंटीन में जाना होगा। जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही क्वारंटीन से बाहर आने की अनुमति मिलेगी। पॉजिटिव आने पर आपको कोविड फेसिलिटी भेज दिया जाएगा।

मध्य प्रदेश – महाराष्ट्र से इंदौर या भोपाल से आने वाले यात्रियों को नेगेटिव RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट साथ रखनी होगी। यह रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। यहां पहुंचने के बाद आपको टेस्ट कराना होगा और नतीजे आने तक सेल्फ क्वारंटीन करना होगा। यात्री को आइसोलेशन की जानकारी के लिए इंदौर-311 ऐप डाउनलोड करना जरूरी है। ये नियम दूसरे राज्यों या केंद्र शासित प्रदेश के यात्रियों पर लागू नहीं होंगे।

महाराष्ट्र – नेशनल कैपिटल रीजन/दिल्ली, गुजरात, राजस्थान, गोवा और राजस्थान से आने वाले यात्रियों को अपने पास RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट साथ रखनी होगी। यह रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। रिपोर्ट नहीं होने पर यात्रियों को एयरपोर्ट पर खुद के खर्च पर जांच करानी होगी।

मेघालय – राज्य के टूरिज्म पोर्टल (https://app.meghalayatourism.in/tourist/#/sign_in) पर आपको खुद को रजिस्टर कर एक खास ई-इनवाट तैयार करना होगा। RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट साथ रखनी होगी। यह रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। रिपोर्ट नहीं होने पर यात्रियों को जांच करानी होगी और नतीजे आने तक इंतजार करना होगा।

राजस्थान – यात्रियों को अपने पास RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट साथ रखनी होगी। यह रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। अगर आप उदयपुर जा रहे हैं, तो होटल रूम बुक करने के लिए आपको इसी टेस्ट रिपोर्ट की जरूरत होगी।

तमिलनाडु – कोयंबटूर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पहुंचने वाले यात्रियों को अपने पास RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट साथ रखनी होगी। यह रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। यहां पहुंचने के लिए आपको वेबसाइट (https://eregister.tnega.org/#/user/pass) से ई-पास प्राप्त करना होगा। अगर आपको पास जांच रिपोर्ट नहीं है, तो एयरपोर्ट पर मुफ्त में टेस्ट होगा। सैंपल देने के बाद आप एयरपोर्ट से बाहर जा सकते हैं। ये नियम आंध्र प्रदेश, पुडुचेरी और कर्नाटक पर लागू नहीं होंगे। हालांकि, अगर आप महाराष्ट्र या केरल से आ रहे हैं, तो अनिवार्य रूप से सात दिनों के होम क्वारंटीन में जाना होगा। इसके बाद एक हफ्ते तक अपने आप निगरानी करनी होगी।

पश्चिम बंगाल – महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगाना और केरल आने वाले यात्रियों के लिए नेगेटिव RT-PCR रिपोर्ट रखना जरूरी है। यह रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। राज्य में पहुंचने के बाद 14 दिन तक सेल्फ-मॉनिटर करने की भी सलाह दी जा रही है।

उत्तराखंड – यात्रियों को अपने पास RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट साथ रखनी होगी। यह रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। छत्तीसगढ़, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु और केरल से आने वाले यात्रियों की मुफ्त कोविड-19 जांच होगी। अगर आप हरिद्वार के कुंभ मेला के लिए यहां पहुंच रहे हैं, तो आपको राज्य की वेबसाइट (https://dsclservices.org.in/kumbh/search.php) पर पहले ही रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

उत्तर प्रदेश – महाराष्ट्र और केरल से आने वाले यात्रियों के लिए नेगेटिव RT-PCR रिपोर्ट रखना जरूरी है। यह रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। अगर आप राज्य में एक हफ्ते से ज्यादा रुकने वाले हैं, तो 14 दिनों के अनिवार्य होम क्वारंटीन में जाना होगा।

download bignews app
Follow us on google news
Follow us on google news

Related Articles

Back to top button